पंचायत चुनाव की आरक्षण सूची पर कांग्रेस नेता ने साधा निशाना, बोले- लिस्ट बनाने में…

उत्तर प्रदेश के आगामी पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) के लिए बीते मंगलवार पंचायती राज विभाग ने आरक्षण सूची जारी की है. पंचायती राज विभाग ने  जिला पंचायत सदस्य , क्षेत्र पंचायत ,ब्लाक प्रमुख और ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य की आरक्षण सूची जारी गई है. जिला पंचायत अध्यक्ष की सूची पहले ही जारी हो चुकी है. अमेठी में 13 खंड प्रमुख है. इसमें भेटुआ, मुसाफिरखाना,गौरीगंज और तिलोई सामान्य सीट है, वहीं भादर जगदीशपुर और बाजार शुल्क महिला सीट है. अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट जामो, बहादुरपुर, सिंहपुर है.और संग्रामपुर, अमेठी, शाहगढ़ अन्य पिछड़ वर्ग के लिए आरक्षित है.

ये भी पढ़ें-प्रयागराज: मुठभेड़ में मारे गए मुख्तार एवं मुन्ना बजरंगी गैंग के दो बदमाश, डिप्टी जेलर की हत्या का था आरोप

अमेठी में जिला पंचायत (Panchayat) सदस्यों की 36 सीटों में 12 सामान्य, 9 सीटें अन्य पिछड़ा वर्ग , 9 अनुसूचित जाति और 6 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं, वहीं ग्राम प्रधान 682 सीटें हैं जिसमें 233 सामान्य . 281 अन्य पिछड़ा वर्ग,156 अनुसूचित जाति और 112 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ब्रजेंद्र शुक्ल ने आरक्षण सूची पर कहा कि आरक्षण में हेरा-फेरी की गई हैं.पवारे के विजय मिश्रा ने बताया कि जिला पंचायत राज विभाग के हर्ष जुड़े लोगों को आरक्षण सूची पहले ही मिल गई थी. जिसके कारण आरक्षण सूची संदेह के घेरे में है.शाहगढ़ के प्रदीप सिंह बोले की कुछ स्थानों पर प्रभावशाली लोगों के मुताबिक आरक्षण सूची बनाई गई है. इससे पंचायती राज विभाग के द्वारा जारी की गई आरक्षण सूची संदेह के घेरे में हैं. हालांकि डीपीआरओ ने कहा कि आपत्तियों के लिए समय दिया गया है.

Related Articles

Back to top button