अलीगढ़ : किसान महापंचायत में अखिलेश का सरकार पर कड़ा प्रहार, मौजूदा हालातों को बताया अंधेर नगरी चौपट राजा

किसान महापंचायत को शिरकत करने अलीगढ़ पहुचें अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के द्वारा विपक्ष पर कड़ा प्रहार किया है। अखिलेश यादव के द्वारा मौजूदा सरकार को किसान विरोधी सरकार बताते हुए उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए है साथ ही अखिलेश यादव के द्वारा यूपी में जंगल राज बताया है। उनके द्वारा किसान पंचायत को सम्बोधित करते हुए किसानों का साथ देने की बात कही है।

ये भी पढ़ें-एटा : आर्थिक तंगी के चलते पिता ने चाक़ू से गोदकर की अपनी 3 वर्षीय पुत्री की हत्या

दरअसल जिला अलीगढ़ के तहसील खैर के टप्पल क्षेत्र में आयोजित समाजवादी पार्टी की किसान महापंचायत को आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के द्वारा सम्बोधित किया गया अखिलेश यादव के द्वारा एक कहावत कहते हुए बोले, उत्तर प्रदेश में हो रहा है कि अंधेर नगरी चौपट राजा, दिनदहाड़े दुष्‍कर्म और रातभर गांजा। जिसको भी देखना है तो यूपी में आजा। उनके द्वारा कहा गया आज किसान परेशान है,आमजनता महँगाई से त्रस्त है। कानून व्यवस्था की क्या हालत कर दी। सीएम कहते हैं ठोक दो। ठोक दो के चक्कर में पुलिस को नहीं किसे ठोक दें और जनता को नहीं पता किसे ठोक हैं। बताओ हमारे यहां ऐसी सरकार चल रही हैं। अखिलेश ने किसानों को न्याय दिलाने की बात कही। कहा, सीएम कमाल के हैं। बहुत सी चीजें उन्हेें समझ नहीं आतीं। सपा ने लेपटाप बांटे थे। हो सकते हैं अभी गांवों में चल रहे थे। सपा ने इसिलए लैपटाप बांटे, क्योंकि हम लैपटाप चलाना जानते हैं। सीएम योगी ने इसलिए नहीं बांटे, क्योंकि वे नहीं जानते। उन्हें लाल टोपी से बहुत तकलीफ है, लेकिन सुना है जब से समाजवादियों ने जवाब दे दिया तब से लाल टोपी नहीं बोलते,उन्‍होंने कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार को जमकर कोसा। कहां आज किसानों के आंदोलन को 100 दिन हो चुके हैं लेकिन सरकार पर कोई असर नहीं पड़ रहा! मुझे भरोसा है कि किसान नौजवान जब तक तब तक संघर्ष करता रहेगा तब तक यह कानून खत्म नहीं हो जाते। अखिलेश ने किसानों को भरोसा दिलाया कि यह लड़ाई आपकी है लेकिन समाजवादी पार्टी आपके साथ खड़ी हुई है। क्योंकि इससे भारत का भविष्य जुड़ा हुआ है।

कृषि कानून के विरोध में चल रहे आंदोलन का समर्थन करते हुए अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)  नेे कहा कि जिस दिन से किसानों ने आंदोलन शुरू किया है, कोई भी राजनीतिक दल हो सभी ने नारा दिया जय जवान जय किसान का नारा दिया। दिल्ली में किसान बैठे हैं। आंदोलन के सौ दिन हो गए हैं। मुझे पूरा भरोसा है, ये किसान नौजवान जब तक संघर्ष करते रहेंगे, जब तक कि ये तीन कानून वापस नहीं हो जाते। ये लड़ाई किसानों की जरूर है, लेकिन हम इनके साथ है। यदि किसान अन्नदाता खेती न करें तो बताओ जीवन क्या है धरती पर। बिना खाए कितने दिन जिंदा रह सकते हैं। खेत और खेत में काम करने वाले किसान हमारा जीवन चलाते हैं। अभी तो वैश्विक महामारी देखी है। न केवल हम आप सब कितनी तकलीफ में रहे। इसके कारण हम लोग परेशानी में रहे। घरों में रहे। कारोबार ठप हो गया। छोटे दुकानदार, रिक्शाचलाने वालों का काम बंद हो गया। उस समय भी वैश्विक महामारी के सामने यदि कोई काम पर निकला तो वह किसान था। उसके चलते देश बच गया। ये काम न करते तो देश बर्बाद हो जाता। पैदावार को कम नहीं होने दिया।

रिपोर्ट- खालिद अंसारी

Related Articles

Back to top button