सुल्तानपुर: दिन – रात काम करके आपकी आशाओं व उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश कर रहीं हूँ : मेनका संजय गांधी

खबर सुल्तानपुर से हैं जहाँ पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सुल्तानपुर सांसद मेनका गांधी (Maneka Sanjay Gandhi)  तीन दिवसीय दौरे के आखरी दिन चीनी मिल स्थित सैदपुर गांव में चौपाल को संबोधित करने पहुंची। मेनका ने कहा कि, पिछले चार महीने में हम लोगों ने गांव की दस हजार से ज्यादा लड़ाईयां सुलझा ली हैं। खुद मुख्यमंत्री ने कहा है कि सबसे ज्यादा लड़ाईयां जो सुलझाई गई हैं वो सुलतानपुर में हैं।

ये भी पढ़े-दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड स्थापित करने का मुख्यमंत्री ने किया ऐलान, बोले- अमीर-गरीब का फर्क भूलकर छात्रों को बनाएंगे अच्छा इंसान

बताते चलें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गाँधी (Maneka Sanjay Gandhi) ने आगे कहा कि, जब मैं यहां आई थी तो हर गांव में 160 से ज्यादा लड़ाईयां थीं। कोई किसी का घर नही बनने दे रहा है, कोई सड़क के बीच में बैठ गया है,कोई किसी का घर कब्जा कर ले रहा था, किसी के खम्भे का विवाद था। मेरी कोशिश यही है जितनी जल्दी एक-एक की जमीन का समाधान करती जाऊंगी उतनी ही खुशी से आप लोग रह सकते हैं।

तो वही मेनका गांधी (Maneka Sanjay Gandhi) को बेटे वरुण गांधी द्वारा कराए गए विकास कार्यों के पूरा न होने का दर्द है। उन्होंने आज कहा कि,वरुण ने निषाद समाज के लिए एक निषाद मंडी बना करके गए थे, वो मंडी पूरी नही हुई है। उसमें दुकाने बननी हैं जो बनकर रहेगी। मेनका ने कहा कि मैं आपसे वादा करती हूं, बस मुझे और 6 महीने साल का समय चाहिए।

आपको बता दे कि श्री मती मेनका गांधी (Maneka Sanjay Gandhi) ने इशारे ही इशारे में तत्कालीन अखिलेश यादव सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जब मैं सुल्तानपुर आई तो उस वक्त तक एक आदमी को भी मुद्रा योजना का लाभ नही मिला था। जबकि मैं पीलीभीत से सांसद बनकर आई थी, जहां एक लाख से भी ज्यादा लोगों को मुद्रा योजना का लाभ दिलाया था, साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि जब से मैं यहां आई हूं 15 हजार से ज्यादा लोगों को मुद्रा योजना का लाभ दिला चुकी हूं।कार्यक्रम में बृजेश वर्मा, अरूण द्विवेदी, संतोष दूबे ,जवाहर निषाद, चन्द्र प्रताप सिंह, रामकेश यादव, ओम प्रकाश सिंह आदि उपस्थित रहे।सांसद श्रीमती गांधी 4:00 बजे सड़क मार्ग से 14 – अशोक रोड नई दिल्ली के लिए रवाना हुई।

Report-Santosh Pandey

Related Articles

Back to top button