सुल्तानपुर: जिला योजना समिति की बैठक में जनपद प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने किया अनुमोदन

खबर सुल्तानपुर से हैं जहाँ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग उ0प्र0 सरकार/जनपद प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह (Jai Pratap Singh) की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शनिवार को आयोजित जिला योजना वर्ष 2021-22 के प्रस्तावित परिव्यय पर जिला योजना समिति की बैठक में 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख रूपये के परिव्यय को विभिन्न विभागों की योजनाओं/विकास कार्यक्रमों को संचालित किये जाने हेतु अनुमोदन प्रदान किया गया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनपद के विकास के साथ-साथ जन कल्याणकारी कार्यक्रमों से समाज के निर्धन/पात्र व्यक्तियों तक पहुंचायें और जो भी कार्य किये जायें उसकी सूचना जन प्रतिनिधियों को भी अवश्य दी जाये।

ये भी पढ़े-दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड स्थापित करने का मुख्यमंत्री ने किया ऐलान, बोले- अमीर-गरीब का फर्क भूलकर छात्रों को बनाएंगे अच्छा इंसान

बताते चलें कि प्रभारी मंत्री का जनपद में आगमन पर जिलाधिकारी रवीश गुप्ता द्वारा स्वागत करते हुए बताया कि जिला योजना तैयार किये जाने हेतु शासन द्वारा जनपद का कुल परिव्यय रूपये 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख निर्धारित किया गया है, को दृष्टिगत रखते हुए जनपद की जिला विकास योजना तैयार करने के उपरान्त 32863.00 लाख में पुर्नगठित केन्द्र पुरोनिधानित योजनाओं का केन्द्रांश 11417.71 लाख रूपये है तथा कुल प्रस्तावित परिव्यय में 5189.07 लाख रूपये स्पेशल कम्पोनेन्ट प्लान के अन्तर्गत प्रस्तावित किया गया है। उन्होंने बताया कि शासन से प्राप्त गाइड लाइन के अनुसार विभिन्न विभागों की योजनाओं/कार्यक्रमों के संचालन हेतु वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। जिस पर विचार-विमर्श कर अनुमोदित किया जाना है।

तो वहीं जनपद प्रभारी मंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये कृषि विभाग को 32 लाख, गन्ना को 8.88 लाख, पशु पालन को 334.89 लाख, दुग्ध विकास को 326.65 लाख, सहकारिता को 495.00 लाख, वन विभाग को 2214.17 लाख, ग्राम विकास के विशेष कार्यक्रम के अन्तर्गत 2891.75 लाख, रोजगार कार्यक्रम को 125.01 लाख, निजी लघु सिंचाई को 2450.00 लाख, राजकीय लघु सिंचाई को 196.76 लाख, अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत को 31.95 लाख, खादी ग्रामोद्योग को 20 लाख, सड़क एवं पुल कार्यक्रम को 3000.00 लाख, पर्यावरण को 05.00 लाख, पर्यटन को 160.00 लाख, प्राथमिक शिक्षा को 2167.50 लाख, माध्यमिक शिक्षा को 1493.14 लाख, प्राविधिक शिक्षा को 986.79 लाख, प्रादेशिक विकास दल को 42.46 लाख, एलोपैथिक को 801.66 लाख, परिवार कल्याण को 120.00 लाख, होमियोपैथिक को 132.00 लाख, आयुर्वेद को 323.38 लाख, युनानी को 88.96 लाख, ग्रामीण स्वच्छता को 801.00 लाख, ग्रामीण आवास को 11511.49 लाख, नगर विकास को 245.36 लाख, अनुसूचित जाति कल्याण कार्यक्रम हेतु 285.00 लाख, पिछड़ी जाति कार्यक्रम 218.25 लाख, अल्पसंख्यक कल्याण को 23.80 लाख, समाज कल्याण-सामान्य जाति को 173.25 लाख, शिल्पकार प्रशिक्षण को 605.00 लाख, समाज कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम (वृद्धा/किसान पेंशन) एवं राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना हेतु 322.00 लाख, दिव्यांगजन सशक्तीकरण कार्यक्रम हेतु 120.00 लाख, महिला कल्याण के लिये 110.00 लाख का प्रस्ताव जिला योजना समिति की बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों से गहन समीक्षा करने के पश्चात प्रभारी मंत्री एवं सांसद सुलतानपुर मेनका संजय गाँधी द्वारा अनुमोदित किया गया।

Report-Santosh Pandey

Related Articles

Back to top button