मासूम बच्चियों को बिस्किट का लालच देकर कर रहा था दुष्कर्म का प्रयास, पुलिस ने किया गिरफ्तार

शाहजहांपुर पुलिस को उस समय बड़ी सफलता मिली जब पुलिस ने अनिल नाम के युवक को गिरफ्तार किया । अब इस युवक का गुनाह भी सुन लीजिए अनिल कोतवाली थाना क्षेत्र के अजिजगंज का रहने वाला है और कंजड़ है ये शख्स शहद निकालने का काम करता है।

वही दूसरी बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गयी

2 दिन पूर्व इसी शख्स ने अबोध बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की नाकाम रहने पर बच्चियों पर जान लेवा हमला किया जिसमें एक बच्ची की मौत हो गयी तो वही दूसरी बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गयी।

ये भी पढ़े-ट्रैक्टर ने मारी बाइक सवार युवक को टक्कर, मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया रोड जाम

सनसनीखेज घटना का निरीक्षण

हालत गंभीर होने की वजह से घायल बच्ची को बरेली रेफर कर दिया गया था । जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है इस गंभीर और सनसनीखेज घटना का निरीक्षण अपर पुलिस महानिदेशक अविनाश चंद्र व पुलिस महानिरीक्षक राजेश कुमार पांडेय ने स्वतः किया था।

महानिरीक्षक बरेली परिक्षेत्र राजेश कुमार पांडेय ने खुलासा करते हुए बताया…

मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने हत्यारोपी अनिल को गिरफ्तार किया । साथ ही हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया पुलिस महानिरीक्षक बरेली परिक्षेत्र राजेश कुमार पांडेय ने खुलासा करते हुए बताया अनिल दोनों बच्चियों को बिस्किट का लालच देकर सरसों के खेत मे ले गया।

वहां उसने दुष्कर्म की कोशिश की दुष्कर्म में नाकाम रहने पर अनिल ने दोनों बच्चियों पर धारदार हथियार से हमला कर दिया जिसमें अनिल ने 7 वर्षीय बच्ची पर हमला किया। जिसे देखकर उसकी 4 वर्षीय बहन भाग खड़ी हुई तो अनिल ने दौड़कर उसको पकड़ लिया और करीब 100 मीटर दूर गन्ने के खेत मे उस पर भी हमला कर दिया।

जिसकी मौके पर मौत हो गयी दोनों बच्चियों को मृत समझकर अनिल वहां से भाग गया सूचना पर पहुंची पुलिस को 7 वर्षीय बच्ची घायल अवस्था मे मिली जिसका लखनऊ में इलाज चल रहा है।

2 दिन पहले एक बच्ची का मिला था शव 1 बच्ची मिली थी घायल

आपको बता दे कांट थाना क्षेत्र के गॉंव भानपुर का था यह पूरा मामला जहां 2 दिन पहले सरसों के खेत मे 6 वर्ष की बच्ची बेहोशी की हालत में गंभीर रूप से घायल अवस्था मे मिली थी। वही करीब 100 मीटर दूर दूसरी बच्ची गन्ने के खेत मे मृत अवस्था मे मिली थी घायल बच्ची को इलाज हेतु बरेली रेफर कर दिया गया था। जहां वह कोमा में थी अब थोड़ा सा हालत में सुधार है लेकिन बच्ची से मिलने की किसी को परमिशन नही है।

Related Articles

Back to top button