ममता पर हमले से भड़के समर्थक, ट्रेनों को रोक कर जताया विरोध

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर बुधवार की शाम को चोट का शिकार हो गयीं। ये घटना नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान हुई थी । जिसपर तत्कालीन अवस्था में कोलकाता में उनका इलाज शुरू हो गया। लेकिन इस घटना को साजिश बताते हुए उन्होंने 4-5 अज्ञात लोगों पर आरोप लगाया है।

कोलकाता के SSKM अस्पताल में ममता के इलाज के लिए 6 डॉक्टरों की टीम बनाई गई है। तुरंत ही उनका का एक्स-रे और बाकि के टेस्ट लिए गए। डॉक्टरों के मुताबिक ममता के बाएँ पैर में गहरी चोट आई है। साथ ही उनके गले और कंधे में भी चोट आई है। उन्होंने अपने सीने में दर्द और सांस फूलने की दिक्कत बताई है। उनको पेनकिलर्स दे दी गयी है।

ये भी पढे़-बाँदा : बम-बम भोले के जयकारों से गूंजा जिला

वहीं ममता (Mamata Banerjee)  के समर्थक बुधवार रात से नारेबाज़ी और विरोध जाता रहे थे। विरोध जताते हुए सड़कों पर आगजनी की, घंटों तक रास्ता जाम रहा। भाजपा के खिलाफ नारेबाजी और एयरपोर्ट तक का रास्ते बंद हो गए। सिर्फ इतना ही नहीं गुरुवार सुबह समर्थकों ने कदमबागची रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों को भी रोका।

चुनावी माहौल के बीच ऐसे आरोप ने सियासी गर्मागर्मी को और बढ़ा दिया है। जिसपर देशभर से अलग अलग प्रतिक्रिया सामने आ रही है। मौके पर ही राज्यपाल समेत कई मंत्री ममता को देखने पहुंचे। टी.एम.सी. चुनाव आयोग से इस हमले की शिकायत करेगी।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)  की चोट पर चिंता जताते हुए अच्छे स्वास्थ की कामना की। वही सियासी माहौल पर ध्यान देते हुए भाजपा के कई नेताओ ने उनके उस आरोप को झूठ बताया। भाजपा ने उनके इस आरोप को झूठ और उनका नाटक बताया। भाजपा नेता अर्जुन सिंह ने कहा ममता साहनुभूति पाने के लिए ये नाटक कर रही। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के चलते उनपर हमला होने पर भी प्रश्न उठाए गए है। वही कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने भी इसे ममता का नाटक कहा है।

Related Articles

Back to top button