लखनऊ : बैंक निजीकरण को लेकर किया गया विरोध प्रदर्शन

लखनऊ (Lucknow) के हजरतगंज स्थित एसबीआई के मुख्यालय में आज प्रेस वार्ता करते हुए यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन प्रदेश महामंत्री के के सिंह ने केंद्र सरकार को बैंकों के निजीकरण को लेकर चेताया है। वार्ता के दौरान प्रदेश महामंत्री ने कहा कि जैसा कि आप लोगों ने अभी बजट सेशन में देखा होगा कि सरकार ने दो प्राइवेट बैंकों के निजीकरण की बात कही है।

ये भी पढ़ें- बलिया : किन्नर माधुरी पांडे ने महाशिवरात्रि के पर्व पर गरीबों में बांटे कपड़े-कंबल

ये भी पढ़ें-पश्चिम बंगाल: BJP उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम से भरा पर्चा, TMC प्रमुख Mamata Banerjee से होगा सीधा मुकाबला

हालांकि उन्होंने किसी भी बैंक का नाम नहीं लिया है लेकिन निजीकरण करने के बादजब बैंक निजी हाथों में जाएंगे या औद्योगिक घरानों के हाथों में जाएंगे तो वह जनता के जमा पैसों का दुरुपयोग करेंगे, हमारी एक ही मांग है कि बैंकों का निजीकरण ना किया जाए निजीकरण करने से जो जनता की गाढ़ी कमाई है और जो पेंशनर ने अपनी जमा पूंजी बचा कर रखी है वह सब निजीकरण के बाद रोड पर आ जाएंगे इसलिए हमने 2 दिन 15 और 16 मार्च को हड़ताल करने का फैसला लिया है ताकि सरकार को समझ में आ जाए और वह अगर नहीं समझी तो हम इस आंदोलन को आगे भी जारी रखेंगे।

रिपोर्टर- फैसल खान

Related Articles

Back to top button