मथुरा : कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक का आज तीसरा शाही स्नान, भव्य और दिव्य तरीके से निकाली गई शाही पेशवाई

सबसे पहले सभी अखाड़ों में हनुमान जी की ध्वजा का पूजन किया गया , विधि-विधान और पूजा पाठ के बाद अपने-अपने अखाड़ों से साधु-संत ध्वजा के साथ निकले । साधु संतों की शाही पेशवाई का नजारा ही आज अलग था । ऊंट , घोड़े ,बग्गी को सजा कर उन पर साधु-संत सवारी कर रहे थे ।

ये भी पढ़ें-पश्चिम बंगाल: BJP उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम से भरा पर्चा, TMC प्रमुख Mamata Banerjee से होगा सीधा मुकाबला

वहीं नागा साधु भी अपनी मस्ती में मस्त थे ,शोभा यात्रा में जय श्रीराम के नारे लगा रहे थे । साधु संतों पर पुष्प वर्षा की जा रही थी। मेला स्थल से शाही पेशवाई की शुरुआत की गई । जिसमें तीनों अनी अखाड़े निर्मोही ,निर्वाणी ,और दिगंबर के साथ-साथ चारों संप्रदाय के साधु संत भी शामिल हुए। 1 घंटे से अधिक समय तक लगातार बड़ी संख्या में श्रद्धालु मेला स्थल से शाही पेशवाई के साथ निकलते हुए दिखाई दे रहे थे। साधु संत और श्रद्धालु की कतार टूटने का नाम ही नहीं ले रही थी । सीधे तौर पर कहा जा सकता है कि आज कुंभ पूर्व बैठक बैठक की शाही पेशवाई में लघु भारत नजर आया। अब की बार करीब 15 लाख साधु संत, श्रद्धालु तीसरे शाही स्नान में शामिल हो रहे हैं ।

शहर में शाही पेशवाई में साधु संतों का नगर वासियों ने पूर्व वर्षा कर भव्य स्वागत किया । इसके बाद करीब 12 बजे सभी साधु संत और श्रद्धालु यमुना के घाट पर पहुंचेंगे और ध्वजा को यमुना जल में स्नान कराने के बाद स्वयं शाही स्नान का आनंद लेंगे।

report- Yogesh

Related Articles

Back to top button