अमेठी : महिला ने दिया एंबुलेंस में बच्चे को जन्म…

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के सांसदीय क्षेत्र अमेठी में एक बेहद महत्वपूर्ण पुल पिछले 2 साल से अधिक समय से लोक निर्माण विभाग की अनदेखी और लापरवाही का शिकार है। विश्वेशरगंज-संग्रामपुर को जोड़ने और सिद्ध पीठ मां कालिकन धाम तक पहुंचाने वाले मार्ग पर करीब दो साल से अधिक समय से पुल टूटा हुआ है।

ये भी देखें -आजमगढ़ : पुलिस ने कार्यवाही के नाम पे महिलाओं पर बरपाया कहर

पिछले दो सालों से अधिक समय से यह मार्ग पूरी तरीके से बंद है, जिसके चलते क्षेत्र के ग्रामीणों को बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। वहीं गर्भवती महिला का प्रसव के लिए 102 एंबुलेंस सेवा महिला के घर पहुँची और पुल टूटे होने के कारण मिनटों का सफ़र घंटों लग गए और समय पर अस्पताल न पहुंच पाने के कारण गर्भवती महिला की 102 एंबुलेंस सेवा में ही डिलिवरी करानी पड़ी। डिलिवरी के बाद जच्चा और बच्चा को संग्रामपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया।

वहीं, कृष्ण कुमार वर्मा ने बताया कि हमने एम्बुलेंस के लिए सूचना समय पर दिए थे पर पुल टूटा होने के कारण एंबुलेंस को आने-जाने मे समय लग गया इसलिए समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाए इसलिए एम्बुलेंस पर ही डिलिवरी हुई, जच्चा बच्चा दोनों लोग सुरक्षित हैं।

वहीं, इस पूरे मामले पर अमेठी के सीएमओ आसतोष दूबे ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र संग्राम पुर को फोन आया था की एक प्रसव का मामला है एम्बुलेंस की आवश्यकता है जिस पर संग्रामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से एम्बुलेंस गई और महिला को लेकर आ रही थी की रास्ता अवरुद्ध होने के चलते दूर तक का सफर तय करना पडा और रास्ते में महिला को पीडा बढ गई जिसके चलते एम्बुलेंस को रास्ते में ही साईड कर झेत्र की आशा बहू, पायलेट व एमटी आपरेटर ने प्रसव कराने का प्रयास करते हुए विभाग को सूचना दिया मैने सूचना मिलते ही डाक्टरों की टीम भेजा, लेकिन तब तक डिलीवरी हो गई थी।

जिसके बाद तुरंत उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पहुचांया गया, फिलहाल जच्चा बच्चा दोनो सही हैं और उनका पूरा ट्रीटमेंट किया गया।

REPORT-HANSRAJ SINGH

Related Articles

Back to top button