CM योगी के रियल्टी चेक में फेल हुए कई IAS अफसर और कमिश्नर, भेजा गया नोटिस

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के तमाम निर्देशों के बावजूद अधिकारी लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे हैं। सूबे के मुखिया ने निर्देशों के बाद भी प्रदेश के कई अफसर सरकारी फोन नहीं उठाते हैं, इसका खुलासा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के रियल्टी चेक में हुआ।

सरकारी फोन न उठाने पर कई आईएएस अफसर और कमिश्नरों को सीएम योगी (CM Yogi) ने नोटिस भेजा है। इन अफसरों को अगले तीन दिन में इस नोटिस का जवाब देना है। बता दें कि जिन लोगों को नोटिस भेजकर जवाब मांगे गए हैं, उनमें कई जगहों मंडलायुक्त, जिलाधिकारी, एसएसपी और एसपी शामिल हैं।

ये भी पढ़ें –लखनऊ-सुलतानपुर NH पर चलती ट्रक में टकराई कार, मामा-भांजे की हुई मौत

शासन की ओर से प्रदेश के 25 जिलाधिकारियों, चार कमिश्नरों से सरकारी फोन न उठाने के मामले में नोटिस भेजा गया है, जिसका उन्हें तीन दिन के भीतर जवाब देना है।

आपको बता दें कि जिन कमिश्नर से जवाब मांगा गया है, उनमें वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या और बरेली के कमिश्नर शामिल हैं। इसके अलावा जिन जिलों के डीएम ने सरकारी फोन नहीं उठाया, उनमें गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बदायूं, अलीगढ़, कन्नौज, संतकबीर नगर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, फिरोजाबाद, हापुड़, अमरोहा, पीलीभीत, बलरामपुर, गोंडा, जालौन, कुशीनगर, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर झांसी, मऊ, आजमगढ़, वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या और बरेली के जिलाधिकारी शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त आगरा मंडल के अंतर्गत आने वाले कई जिलों के एसएसपी-एसपी ने फोन नहीं उठाया। अलीगढ़, प्रयागराज, कानपुर नगर, रायबरेली, कन्नौज, औरया, कुशीनगर, जालौन के एसएसपी ने फोन नहीं उठाया।

दरअसल, मुख्यमंत्री (CM Yogi) को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि प्रदेश के कई जिलाधिकारी और कमिश्नर अपने सरकारी फोन को रिसीव नहीं करते हैं। इसकी हकीकत जानने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने रियल्टी चेक किया। इस रियल्टी चेक मे प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों और कमिश्नरों को फोन मिलाया गया, लेकिन ज्यादातर जिलों में किसी ने फोन नहीं उठाया। इसके बाद मुख्यमंत्री सचिवायल ने उन्हें नोटिस भेजकर तीन दिन में जवाब मांगा है।

Related Articles

Back to top button