Farmers Protest: किसान नेताओं ने टी-शर्ट के माध्यम से जारी किया संदेश

नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान (Farmers ) दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर करीब 108 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं . वहीं, गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसान होली की तैयारियों में जुट गए हैं. बता दें कि किसानों (Farmers) का कहना है कि बीते डेढ़ महीने से सीमाओं पर किसानों ने अपने सभी त्यौहार मनाए हैं. उसी तरह अब होली भी यहीं मनाई जाएगीं. किसान इसी के तहत होली की सभी तैयारी कर रहे हैं.

भारतीय किसान यूनियन (युवा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी गौरव टिकैत ने बताया कि इस बार देश की सबसे बड़ी ऐतिहासिक होली गाजीपुर बॉर्डर पर मनाई जाएगी. गौरव टिकैत ने कहा कि 17 मार्च को गाजीपुर बॉर्डर पर महापंचायत का आयोजन किया जाएगा . मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव में प्रतिमाह महापंचायत का आयोजन होता है. जो कि महापंचायत चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत द्वारा बुलाई जाती थी. वह पंचायत इस बार गाजीपुर बॉर्डर पर होने जा रही है.

ये भी पढ़ें –लखनऊ-सुलतानपुर NH पर चलती ट्रक में टकराई कार, मामा-भांजे की हुई मौत

बता दें कि बीते कुछ दिनों से गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों (Farmers) की संख्या बढ़ रही है. हर गांव में किसानों (Farmers ) से धरना स्थल आने का आह्वान किया जा रहा है. 23 मार्च को शहीद दिवस मनाने के लिए गांव से युवाओं को बुलाया जा रहा है.

टिकरी बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन उगराहां ने कहा कि 21 से 23 मार्च के बीच पंजाब, हरियाणा, पश्चिम यूपी, उत्तराखंड के अलावा देश के दूसरे राज्यों में भी युवा सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. युवाओं को दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए प्रेरित किया जाएगा . पंजाब की दाना मंडी में 21 मार्च को युवा सम्मलेन की शुरुआत होगी, जिसके बाद अलग अलग राज्यों में किसान नेता युवाओं के बीच मीटिंग करेंगे.

बता दें कि गाजियाबाद में दिल्ली बॉर्डर पर स्थित यूपी गेट पर पिछले करीब 108 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. यूपी गेट पर बीते सोमवार को किसानों (Farmers) के लिए टी- शर्ट लॉन्च की गई है. इस टी-शर्ट पर लिखा है “जिंदा है तो दिल्ली आजा, संघर्षों में शामिल हो”. लॉन्चिंग के दौरान यह टी-शर्ट सभी अनशनकारियों को पहनाई गई. आंदोलनकारी शारदा दीक्षित ने सभी किसानों से आंदोलन की सफलता की अपील की.

आपको बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर का एक हिस्सा खुलने पर संयुक्त किसान मोर्चा ने अपना रुख साफ किया. किसान प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा ने कहा कि जो सड़के पुलिस की ओर से बंद की गई थी, उनमें से एक सड़क पुलिस ने खोल दी. उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा भी इन सड़को को खोलने की मांग करता रहा है. जिससे स्थानीय लोगों को कोई असुविधा न हो. संयुक्त किसान मार्चे ने स्पष्ठ किया कि गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन जारी है.

Related Articles

Back to top button