शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं तो गेहूं की जगह इन आटें की रोटी खाएं

डायबिटीज तेजी से बढ़ती हुई ऐसी बीमारी है जिससे हमारे देश में लगभग 7 करोड़ लोग पीड़ित हैं। शुगर (sugar) से ग्रासित लोगों का डेटा स्वास्थ्य की स्थिति के लिए चिंता का विषय है। तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में करती इस बीमारी पर अंकुश लगाने के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव, हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज जरूरी है।

ये भी पढ़ें –लखनऊ-सुलतानपुर NH पर चलती ट्रक में टकराई कार, मामा-भांजे की हुई मौत

शुगर (sugar) के मरीजों को अक्सर डाइट में अधिक फाइबर और प्रोटीन शामिल करने की सलाह दी जाती है जिससे ग्लूकोज का स्तर समान्य बना रहे। जब हम शुगर पेशंट की डाइट की बात करते हैं तो हमें सबसे पहले चपातियों पर एक नजऱ डालनी चाहिए। हम आमतौर पर गेहूं के आटे से बनी रोटियां खाते हैं जो शुगर के मरीजों के लिए बेस्ट डाइट नहीं है। शुगर के मरीजों को ऐसे आटे का सेवन करना चाहिए जिससे उनका शुगर कंट्रोल रहे। आइए जानते है कि शुगर पेशंट के लिए कौन सा आटा बेस्ट है।

चौलाई का आटा
अपने एंटी-डायबिटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण ही अमरनाथ यानि चौलाई का आटा लोकप्रिय है। ये आटा आपके रक्त में शुगर (sugar) के स्तर को नियंत्रित रखता है। खनिज, विटामिन, प्रोटीन और लिपिड से भरपूर आटा शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद है।

रागी का आटा

रागी का आटा फाइबर से भरपूर होता जो शुगर के मरीजों के लिए एक बढयि़ा विकल्प है। फाइबर आपके फुलर को अधिक समय तक बनाए रखने में मदद करता है, साथ ही वजन भी कंट्रोल रखता है। रागी का आटा वजन कंट्रोल करने में अहम भूमिका निभाता है। फाइबर को पचने में लगने वाला लंबा समय ब्लड शुगर (sugar) को धीरे-धीरे कम करने का कारण बनता है।

जौ का आटा

जौ का आटा आंत हार्मोन और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है। यह आपके शरीर को स्वस्थ रखने और विभिन्न बीमारियों से बचाने के लिए भी मददगार है।

चने का आटा

चने का अटा घुलनशील फाइबर से भरपूर होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है और चीनी के अवशोषण को धीमा करता है, जिससे ब्लड शुगर धीरे-धीरे बढऩे लगता है।

Related Articles

Back to top button