बुलंदशहर: प्रसूता की ईलाज के दौरान मौत, अस्पताल प्रबंधन ने तानी बंदूक

यूपी के बुलंदशहर में आज एक निजी अस्पताल (private hospital) में डिलीवरी के दौरान प्रसूता की मौत के बाद गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। मृतका के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर बदसलूकी और बंदूक तानने का आरोप लगाया है।

आरोप यह भी है कि अस्पताल प्रबंधन के लोगों ने तीमारदारों को बंधक बना लिया और पुलिसकर्मियों से भी अभद्रता की। मृतक प्रसूता के परिजनो ने कोतवाली देहात में तहरीर देते हुए पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है।

मृतक प्रसूता के परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा

हंगामा और विलाप की यह तस्वीर बुलंदशहर नगर कोतवाली क्षेत्र स्थित अमेयश अस्पताल की हैं। जहां आज देवेंद्री नाम की प्रसूता की डिलीवरी के दौरान मौत हो गई। मौत के बाद मृतक प्रसूता के परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा काटा।

आरोप है 24 घंटे के लिए अस्पताल प्रशासन ने प्रसूता को आईसीयू में भर्ती किया था, लेकिन महज़ 15 मिनट बाद प्रसूता को आईसीयू से बाहर निकालकर प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। आज सुबह उनसे प्रसूता के लिए एक यूनिट ब्लड की डिमांड की गई।

परिजनों ने प्रसूता के लिए एक यूनिट ब्लड अस्पताल प्रशासन को उपलब्ध कराया था। मगर महिला की तबीयत बिगड़ने से उसकी अचानक मौत हो गई।

ये भी पढ़ें-मथुरा: यमुना एक्सप्रेसवे पर डीजल के टैंकर ने मारी इनोवा में टक्कर 7 लोगों की मौके पर मौत

तीमारदारों का कहना है कि जब डॉक्टर और अस्पताल प्रशासन से महिला की मौत का कारण जानना चाहा तो आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन के लोगों ने प्रसूता के परिजनों के साथ जमकर मारपीट की। अभद्र व्यवहार किया और डॉक्टर के भाई और अस्पताल के सिक्योरिटी स्टाफ ने प्रसूता के परिजनों पर रायफल और पिस्टल तान दी।

पुलिसकर्मियों के ही गिरेबान पर हाथ डाल दिया और पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी की

वही अस्पताल में परिजनों ने जब जमकर हंगामा किया तो मौके पर पीसीआर और फैंटम पहुंची। पुलिस ने हंगामा शांत कराने की कोशिश की तो पुलिसकर्मी पुष्पेंद्र का आरोप है कि उल्टा अस्पताल प्रशासन ने पुलिसकर्मियों के ही गिरेबान पर हाथ डाल दिया और पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी की।

वहीं अमेयश हॉस्पिटल चलाने वाले डॉक्टर सुयश शर्मा मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि मृतका प्रसूता का इलाज 2018 से उन्हीं के अस्पताल में चल रहा है, 23 मई 2018 में भी प्रसूता ने इसी अस्पताल में एक और बच्चे को जन्म दिया था उसी समय से प्रसूता को हिमोग्लोबिन की कमी थी।

प्रसूता को अस्पताल स्टाफ के द्वारा सीपीआर दिया गया

जिसके बाद बीते कल प्रसूता को अस्पताल में भर्ती होने के बाद परिजनों को बताया गया था कि प्रसूता के ब्लड में इंफेक्शन है और ब्लड की भी कमी है। जिसके बाद आज सुबह एक यूनिट ब्लड प्रसूता को चढ़ाया गया था, लेकिन अचानक 11:30 बजे प्रसूता को कार्डियक अरेस्ट हुआ जिसके बाद प्रसूता को अस्पताल स्टाफ के द्वारा सीपीआर दिया गया।

लेकिन 1 घंटे बाद फिर से प्रसूता के दिल ने काम करना बंद कर दिया जिससे प्रसूता की मौत हो गई है साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब परिजनों ने उनके और उनके भाई के साथ बदसलूकी की, तो हो सकता है अस्पताल में सिक्योरिटी स्टाफ ने कुछ कर दिया हो उनके पास ना तो पिस्टल है और ना ही उन्होंने किसी पर पिस्टल तानी है।

रिपोर्ट- जीशान अली

Related Articles

Back to top button