कब्ज से हैं परेशान तो आज़माएं यह घरेलू उपाय, मिनटों में मिलेगी राहत

अधिकतर लोगों को पेट ठीक से साफ नहीं होने की शिकायत रहती है क्योंकि जब पेट साफ नहीं होता तो कई तरह की बीमारियां होने लगती हैं। पेट साफ नहीं होने के कई कारण होते है, जिनमें से एक सबसे बड़ा कारण कब्ज (constipation) की समस्या है। इसके कई प्रमुख कारण हो सकते हैं जैसे- शरीर में पानी की कमी होना, शारीरिक मेहनत का अभाव, फाइबर युक्त आहार की कमी, अनियमित दिनचर्या आदि।

तरल पदार्थ
कब्ज (constipation) को कंट्रोल करने के लिए हाइड्रेटेड रहना बहुत महत्वपूर्ण है। विशेषज्ञों के अनुसार, हर दिन 8-10 गिलास पानी पीने से पाचन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। यहाँ याद रखने वाली बात यह है कि आपका मल जितना सख्त होगा, पास करना उतना ही मुश्किल होगा। तो, हर दिन पर्याप्त पानी पीएं और अपने आहार में सूप, हरी और काली चाय, और ताज़ा जूस शामिल करें।

प्राकृतिक फाइबर
फाइबर युक्त आहार खाने से न केवल आपके मल की मात्रा बढ़ जाती है, बल्कि यह आपकी आंतों के माध्यम से बाहर भी आसानी से निकल जाता है। कब्ज (constipation) से राहत पाने के लिए हर दिन पर्याप्त सेब, नाशपाती, अंकुरित अनाज, जई, अंजीर, दाल और फलियां खाएं।

प्रोबायोटिक्स
प्रोबायोटिक्स जीवित ऑर्गनिजम होते हैं जो प्राकृतिक रूप से दही, किमची, सॉकरोट, मिसो और केफिर जैसे खाद्य पदार्थों में पाए जाते हैं। उन्हें ‘अच्छे’ या ‘गुड’ बैक्टीरिया के रूप में जाना जाता है, क्योंकि वे हानिकारक बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ते हैं और उन्हें आंत में बसने से रोकते हैं। प्रोबायोटिक्स अच्छे बैक्टीरिया से बने होते हैं जो आपके शरीर को स्वस्थ और अच्छी तरह से काम करने में मदद करते हैं। इसलिए, आप प्रतिदिन कम से कम एक कटोरी ताजा दही अवश्य खाएं। आप प्रोबायोटिक पेय के विकल्प भी चुन सकते हैं, जो बाजार में आसानी से उपलब्ध होते हैं।

ये भी पढ़े-आजमगढ़: अवैध अतिक्रमण के खिलाफ प्रशासन सख्त, बस अड्डे के सामने बने पिंक शौचालय के आड़ में अवैध अतिक्रमण हटा

फाइबर की खुराक
आपने लोगों को इसबगोल का एक बड़ा चम्मच पानी या दही में मिलाते हुए देखा होगा और अपने मल त्याग को बेहतर बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया होगा और सोचा होगा कि क्या यह घरेलू उपाय वास्तव में काम करता है। जवाब आसान है- हाँ, यह करता है। साइलियम (जो कि ईसबगोल से बना है) जैसे घुलनशील फाइबर और मिथाइलसेलुलोज मल त्याग में सुधार कर सकते हैं। आपको निश्चित रूप से इसका बहुत अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। एक दिन में केवल एक चम्मच पर्याप्त है।

व्यायाम करें
एक रिसर्च के अनुसार, एरोबिक व्यायाम, पैदल चलना और शारीरिक मूवमेंट गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल गतिविधियों में सुधार करता है और कब्ज से राहत देता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि व्यायाम पेट से आंतों तक भोजन के मूवमेंट को तेज करता है। यहां तक कि हर दिन 10-15 मिनट तक टहलना आपके पाचन में सुधार कर सकता है और कब्ज को दूर रख सकता है।

Related Articles

Back to top button