“कैच दी रेन वाटर” से वर्ल्ड वाटर डे मनाएगा भारत

वर्ल्ड वाटर डे (world water day) पर "कैच दी रेन वाटर" यानी वर्षा जल संचय अभियान चलाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी

धरती में 71% पानी होने के बावजूद, साफ पानी मिलना दिन- प्रतिदिन मुश्किल होता जा रहा है। पहले साफ और ताज़े पानी का स्त्रोत नदियां, कुएँ और झील होते थे,लेकिन समय के साथ अब वो भी प्रदूषित होते जा रहे हैं। पूरे विश्व में ही साफ पानी को बचाने के लिए अलग अलग प्रयास चल रहे है। ऐसे में वर्ल्ड वाटर डे (world water day) के मौके पर भारत के प्रधानमंत्री ने एक नयी योजना की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें- एक बार फिर साथ नजर आएं रणबीर और बिपाशा, जानिये वायरल PHOTOS का राज!

स्वच्छ जल के संरक्षण के लिए ही संयुक्त राष्ट्र ने वार्षिक “वर्ल्ड वाटर डे” (world water day) का ऐलान किया। 1993 में पहली बार इसे मनाया गया था। 22 मार्च को पूरे विश्व में वर्ल्ड वाटर डे (world water day) मनाया जाता है, जिसका लक्ष्य मुख्य रूप से पानी का संरक्षण होता है। इसी मौके पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैच दी रेन वाटर यानी वर्षा जल संचय अभियान की घोषणा की है । उन्होंने आज यानी 22 मार्च (world water day) को वीडियो कांफ्रेंस के ज़रिये इस अभियान का शुभारंभ किया। इस वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के दौरान पीएम के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा अन्य प्रदेश के सीएम जुड़े थे।

धरती में 71% पानी तो मौजूद है लेकिन क्या आपको पता है , इसमें पीने लायक पानी सिर्फ 1% ही बचा है। इसी घटते हुए साफ पानी को बचने के लिए पूरे विश्व में हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। वर्ल्ड वाटर डे (world water day) पानी को बचाने के लिए एक बड़ा और आवश्यक कदम है।

Related Articles

Back to top button