राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए ‘Lockdown’ लागू करने को लेकर डिप्टी सीएम का बड़ा बयान

देश में कोरोना महामारी का संकट एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है। पंजाब, दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोना (Corona) के लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में 35 हजार से ज्यादा केस आने के बाद राज्य सरकार की चिंताएं काफी बढ़ गई हैं।

राज्य में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बीच डिप्टी सीएम अजित पवार ने बड़ा बयान दिया है। पुणे में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अजित पवार ने कहा कि हम राज्य में बढ़ते कोविड मामलों को मॉनिटर कर रहे हैं, जिस पर 2 अप्रैल तक नजर रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर लोग कोविड गाइडलाइन्स का उल्लंघन करते रहेंगे तो सरकार के पास लॉकडाउन के अलावा को चारा नहीं बचेगा।

नई सख्ती का ऐलान…

राज्य में बढ़ते कोरोना (Corona) मामलों के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने नई गाइडलाइन्स का भी ऐलान कर दिया है। नई गाइडलाइन्स का ऐलान करते हुए उन्होंने कहा कि मॉल, मार्केट, सिनेमा हॉल को अभी 50 फीसदी क्षमता के साथ ही काम करना चाहिए। साथ ही किसी भी शादी समारोह में 50 लोगों से अधिक लोग नहीं आने चाहिए।

उन्होंने नई गाइडलाइन्स का ऐलान करते हुए कहा कि अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी जाएगी, जबकि अस्पतालों में एक बार फिर कोरोना (Corona) मरीजों के लिए बेड रिजर्व किए जा रहे हैं। साथ ही प्राइवेट अस्पतालों से भी 50 फीसदी बेड रिजर्व रखने को कहा गया है।

…वरना लागू करना होगा सख्त लॉकडाउन

डिप्टी सीएम ने कहा है कि सभी मेडिकल स्टाफ और अन्य अधिकारियों का यही कहना है कि कि अगर कोरोना (Corona) मामलों में ऐसे ही बढ़ोत्तरी होती रही तो सख्त लॉकडाउन लागू करना होगा। उन्होंने लॉकडाउन लागू करने को लेकर कहा कि इस पर अगले शुक्रवार को फैसला लिया जाएगा, लेकिन हालात बिगड़े तो पहले भी लॉकडाउन लागू किया जा सकता है।

होली के त्योहार को लेकर अजित पवार ने ऐलान करते हुए कहा कि लोगों को होली पर ध्यान रखना होगा, कोई भी भीड़ ना लगाए, वरना कोरोना (Corona) का संकट बेकाबू हो सकता है। इसके साथ ही मुंबई में अब किसी भी मॉल में जाने के लिए एंटीजन टेस्ट कराना जरूरी होगा।

ये भी पढ़ें- बाहुबली मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश की जेल में भेजने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

Related Articles

Back to top button