मऊ: नए कृषि क़ानून का विरोध करने उतरे कांग्रेसी, आपस में भिड़े

खबर उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद से है, जहाँ आज काँग्रेस पार्टी के लोग किसानों के समर्थन में नए कृषि क़ानून का विरोध करने उतरे थे, लेकिन इस बीच पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं के ही बीच ज़बरदस्त अंतर्कलह देखनों को मिली।

जहाँ काँग्रेसी जन आपस में ही उलझ गए और ज़िलाध्यक्ष व कार्यकर्तों के बीच जमकर तू-तू मैं-मैं हुई। दरअसल काँग्रेस के सभी कार्यकर्ता एकत्र होकर ज़िला कलक्ट्रेट पहुँचकर सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि क़ानून के विरोध में ज्ञापन सौपने वाले थे।

सोनिधापा मैदान में पार्टी के अन्य कार्यकर्ता इकट्ठे हो गए

पर किन्हीं कारणों वश कलक्ट्रेट ना जाकर पार्टी के ज़िलाध्यक्ष द्वारा चन्द कार्यकर्ताओं के साथ ही आज़मगढ़ मोड़ के समीप ज्ञापन अधिकारी को सौंप दिया गया। जिसके बाद ज़िलाध्यक्ष और उनके साथ मौजूद उनके चुनिंदा कार्यकर्ता वापस लौट ही रहे थे, कि नगर के सोनिधापा मैदान में पार्टी के अन्य कार्यकर्ता इकट्ठे हो गए।

ये भी पढ़ें-इटावा: चुनावी रंजिश को लेकर युवक की हत्या

जिसके बाद आपस में ही काँग्रेसी जनों के बीच जमकर झड़प हुई और पार्टी के कार्यकर्ता ज़िलाध्यक्ष से ख़फ़ा नज़र आए, जहाँ मीडिया ने कार्यकर्ता से सवाल पूछा तो उन्होंने काँग्रेस पार्टी के मऊ ज़िलाध्यक्ष के प्रति नाराज़गी जताई और कही न कही इशारों ही इशारों में ज़िलाध्यक्ष को बदलने की बात कह डाली।

उसकी शिकायत भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में हम करेंगे

लेकिन जब मीडिया कर्मियों ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अन्तर विरोध की बात पूछी, तो सभी टाल मटोल करते नज़र आए और यह कहते हुए टाला की हमारी पार्टी जनता के हित की बात करती आई है और हम लोगों का यह कार्यक्रम जिसके नेतृत्व में था वह प्रशासन के दबाव में हमें इस मैदान में ले आए हैं। जो सरासर ग़लत है और इस बात को हम ऊपर तक ले जाएँगे और जिस व्यक्ति के नेतृत्व में आज का कार्यक्रम था उसकी शिकायत भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में हम करेंगे !

Related Articles

Back to top button