Good Friday 2021: जानिए आखिर क्यों मनाया जाता है गुड फ्राइडे

आज पुरी दुनिया में गुड फ्राइडे (Good Friday) मनाया जा रहा है। ये दिन ईसाई धर्म के लोगों के लिए बेहद खास है। आज के दिन प्रभु ईशु के बलिदान को याद किया जाता है। गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे,  ब्लैक फ्राइडे और ग्रेट फ्राइडे के नाम से भी जाना जाता हैं। इस दिन लोग गिरिजाघरों में जाकर प्रार्थना करते हैं और उपवास भी रखते हैं।

मिली जानकारी की मुताबिक प्रभु ईसा मसीह ने शुक्रवार के दिन अपने जीवन का बलिदान दिया था जिसके बाद उनकी याद में हर साल गुड फ्राइडे (Good Friday) उनके बलिदान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

ये भी पढ़ें- बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट को भी हुआ कोरोना, पोस्ट शेयर कर दी जानकारी

आज हम आपको बताएंगे कि गुड फ्राइडे (Good Friday) आखिर क्यों मनाया जाता है। गुड फ्राइडे ईसाई धर्म का प्रमुख त्योहार है। कहा जाता है कि 2000 साल पहले यरुशलम में ईसा मसीह लोगों को मानवता, एकता का उपदेश दिया था जिससें प्रभावित होकर सभी लोग मानवता और अहिंसा की राह पर चलने लगे।

वहीं लोगों के बीच प्रभु ईशु की बढ़ती लोकप्रियता देखकर अंधविश्वास फैलाने वाले कुछ धर्मगुरु उनसे ये सहन नहीं हुआ और उन्होंने ईसा मसीह की शिकायत रोम के शासक पिलातुस से जाकर कर दी इतना ही नहीं उन पर धर्म अवमानना और राजद्रोह का आरोप भी लगाया गया।

जिसके बाद ईसा मसीह को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्हें कोड़ें-चाबुक से मारा गया बात यहीं खत्म नहीं हुई ईसा मसीह को कांटों का ताज भी पहनाया गया और फिर कीलों से ठोकते हुए उन्हें सूली पर लटका दिया गया।

ऐसा भी कहा जाता है कि गुड फ्राइडे के तीसरे दिन को प्रभु यीशु दोबारा जीवित हो गए थे। वहीं उनके दोबारा जीवित होने के इस दिन को ईस्टर संडे के रूप में मनाया जाता है।

Related Articles

Back to top button