कोरोना की मार: 9 हजार से 90 हजार के पार कोरोना के नए मामले, सिर्फ 50 दिनों में स्थिति हुई बद से बदतर

पूरे देश में कोरोना (Corona) वायरस का कहर लगातार जारी है। भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आ चुकी है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जहां एक तरफ देश में कोरोना टीकाकरण अभियान चल रहा तो वहीं दूसरी तरफ कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

देश में एक बार फिर कोरोना (corona) वायरस अपना कहर दिखा रहा है। कोरोना (corona) संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार पहले से काफी तेज है। महाराष्ट्र, पंजाब और मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में स्थिति बेहद दयनीय हो गई है, इसके चलते कई तरह की रोक लगाईं जा रहीं हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड-19 के मामलों में 10 गुना से ज्यादा वृद्धि हुई है। इस साल 16 फरवरी को देश में कोरोना के केस सिर्फ 9,121 आए थे, जिसके बाद यह संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है और रुकने का नाम नहीं ले रही है। गौरतलब है अप्रैल की शुरुआत में ही नए मरीजों की संख्या बढ़कर 90 हजार के पार पहुंच चुकी है, जो कि पिछले साल सितंबर के बाद सबसे अधिक संख्या है।

corona test

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों की समीक्षा करने से ये पता चलता है कि शुक्रवार को दुनिया भर में सबसे अधिक कोरोना केस भारत में ही मिले हैं। भारत ने नए मरीजों के मामले में दुनिया भर में कोरोना (corona) संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया। इससे पहले, 17 सितंबर, 2020 को देश में कोरोना संक्रमण के सर्वाधिक 97,894 नए कोरोना मरीज मिले थे, जो देश में एक दिन में मिलने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक थी। वहीं अब रविवार को रिकॉर्ड 93 हजार से ज्यादा नए कोरोना के मरीज पाए गए हैं।

.ये भी पढ़ें- CORONA Update: राजधानी लखनऊ में बीते 24 घंटे में 446 नए केस आए हैं, वहीं चार लोगों की मौत

80 फीसदी मामले सिर्फ इन 5 राज्यों में –

स्वस्थ मंत्रालय द्वारा रविवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में 24 घंटों में कोरोना वायरस के 93,249 नए मामले सामने आए, जो इस साल अब तक आए संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,24,85,509 हो गए हैं। रविवार को आए संक्रमण के 93,249 नए मामलों में से 80.96 प्रतिशत आठ राज्यों महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, दिल्ली, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात से सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें-  जानिए किस मंदिर में हुआ था भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह ?

देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों पर काबू पाने के लिए विशेषज्ञों ने टीकाकरण अभियान में और तेजी लाने का सुझाव दिया है। इसके साथ कोरोना की गाइडलाइन्स का सख्ती से पालन करवाने की बात कही है, और जितना हो सके उतना आवाजाही पर रोक लगाने जैसे कड़े कदम उठाने की जरूरत है। विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना की पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर अधिक खतरनाक होने वाली है। तुलनात्मक स्तिथि में पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में संक्रमण अधिक तेजी से फ़ैल रहा है जिसे जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी रोका जाना चाहिए।

 

 

Related Articles

Back to top button