घर के मंदिर में नहीं रखनी चाहिए ये चीज़ें, हमेशा रखें ख्याल

हर किसी के घर में पूजा का एक खास स्थान होता है। वास्तु के अनुसार घर में पूजा स्थान हमेशा ईशान कोण यानी कि उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए।

हर किसी के घर में पूजा का एक खास स्थान होता है। वास्तु के अनुसार घर में पूजा स्थान हमेशा ईशान कोण यानी कि उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। इस दिशा में पूजा घर होने से घर में तथा उसमें रहने वाले लोगों पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार हमेशा बना रहता है. पूजा स्थान यदि वास्तु विपरीत हो तो पूजा करते समय मन भी एकाग्र नहीं हो पाता और पूजा से लाभ नहीं मिलता है. ऐसे मे चलिए जानते हैं घर के मंदिर में क्या नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें-जानें, गुरुवार के व्रत का महत्व और विधि

1. मंदिर में कभी भी विषम संख्या में गणेश जी की मूर्ती न रखें। जैसे एक। तीन या पांच। ये अशुभ माना जाता है। दो मूर्तियों का रखना शुभ माना गया है। इन्हें स्थापित करते वक्त ध्यान दें कि गणेश जी का चेहरा हमेशा घर के मुख्य दरवाजे की तरफ हो।
2. अंगूठे से बड़े आकार का शिवलिंग न रखें। हमेशा एक छोटा शिवलिंग रखें। इससे ज़्यादा नहीं।
3. मंदिर में हमेशा बैठे हुए हनुमान जी की मूर्ति रखें। बजरंग बली रुद्र (शिव) के ही अवतार हैं इसीलिए इनकी भी शिवलिंग की ही तरह एक मूर्ति रखें। साथ ही। कपल्स अपने कमरे में हनुमान जी की फोटो या मूर्ति ना रखें।
4. राधा-कृष्ण जी की मूर्ति को मंदिर में एक साथ रखें। इन्हें आप मंदिर के अलावा अपने कमरों में भी रख सकते हैं।
5.दुर्गा मां की मूर्ति विषम संख्या खासकर तीन में ना रखें। हमेशा इससे कम ही रखें।

Related Articles

Back to top button