जानें शुक्र प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त

आज शुक्र प्रदोष व्रत (Vrat) है। इसे भुगवारा प्रदोष व्रत के नाम से भी जाना जाता है। आज के दिन पूरे विधि विधान से भगवान शिव और मां पार्वती की पूजा की जाती हैं। आज के दिन व्रत रखने से जीवन की सुख-शान्ति की प्राप्ती होती है। शुक्र प्रदोष व्रत हर महीने की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को किया जाता है। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक शुक्र प्रदोष व्रत मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना जाता है। इस दिन भगवान शिव की पूजा के बाद व्रत कथा पढ़नी चाहिए।

ये भी पढ़ें-सपा देश व विदेश में ‘दलित दीवाली’ के तौर पर मनाएगी बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती-सपा प्रमुख अखिलेश यादव

व्रत (Vrat) का शुभ मुहूर्त-

त्रयोदशी तिथि आरंभ- 9 अप्रैल को सुबह 03.15 बजे
त्रयोदशी तिथि समाप्त- 10 अप्रैल को सुबह 04.27 बजे तक
प्रदोष काल में पूजा का समय- 9 अप्रैल को शाम में 05.55 बजे से लेकर 08.12 बजे तक

इन मंत्रों का जाप जरूर करें-

ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।
ॐ नमो भगवते दक्षिणामूर्त्तये मह्यं मेधा प्रयच्छ स्वाहा।
इं क्षं मं औं अं।
ॐ नमः शिवाय।
नमो नीलकण्ठाय।
ॐ पार्वतीपतये नमः।

Related Articles

Back to top button