चाणक्य नीति: अगर आप भी अपने जीवन को बनाना चाहते हैं सफल तो इन बातों का रखें ध्यान

आचार्य चाणक्य की गिनती भारत के श्रेष्ठ विद्वानों मे की जाती है। बुद्धि और अपनी अच्छी नीतियों के बल पर चंद्रगुप्त को शासक के रूप में स्थापित करने वाले आचार्य चाणक्य (Chanakya) को कूचनीति और राजनीति की अच्छी समझ थी। अपने शत्रुओं पर विजय हासिल करके चाणक्य ने इतिहास की धारा को एक नया मोड़ दिया।

ये भी पढें-नवरात्रि के दौरान भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये काम…

चाणक्य (Chanakya) ने अपने जीवन में अच्छी और बुरी दोनों परिस्थितियों का सामना किया था, उन्हें भी सफल होने के लिए बहुत अधिक संघर्ष करना पड़ा था, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कभी भी अपना आत्मविश्वास कम नहीं होने दिया और अपने अच्छे गुणों और मजबूत इरादों से चाणक्य ने विपरीत परिस्थितियों में भी अपनी क्षमता और प्रतिभा को साबित किया और जीवन में सफलता हासिल की।

आज हम आपको चाणक्य के कुछ ऐसी नीति बताने जा रहे है जो आपके लिए बेहद जरूरी है। अगर आप भी सुखी जिंदगी जीना चाहते है तो उनकी इन नीतियों का पालन जरूर करें।

1. चाणक्य के मुताबिक जो समय बीत गया, उसे याद कर पछताना बेकार है।

2. ऐसे लोगों से मित्रता नहीं करनी चाहिए जो आपसे कम या अधिक प्रतिष्ठित हों। इस तरह की मित्रता से किसी को खुशी नहीं मिलती।

3. परमात्मा तक पहुंचने के लिए वाणी, मन, इन्द्रियों की पवित्रता और एक दयालु हृदय की जरूरत होती है। इन सभी से भगवान प्रसन्न होते हैं।

4. जो मित्र व लोग सामने मीठी बातें करते हो और पीठ पीछे आपके काम बिगाड़ने में लगा रहते हो ऐसे मित्रों को त्यागने में ही आपकी भलाई है।

Related Articles

Back to top button