अलीगढ़: देर रात किसान के लिए मसीहा बने इस थाने के एसओ, ड्राइवर सहित दो लोगों की बचाई जान

अंधेरी रातो में सुनसान गलियों में जब कोई मसीहा निकलता है, शहंशाह फ़िल्म का यह डायलॉग अब जमीनी स्तर पर इस थाने के एसओ ने सच साबित कर दिखाया है। एसओ (SO) राजीव कुमार के द्वारा देर रात बुलन्दशहर से आगरा की ओर मैक्स से गाजर बेचने जा रहे किसान और ड्राइवर गाड़ी पलटने से मडराक हाइवे पर स्थित मथुरा कट पर दोनों ही गाड़ी में दब गए।

मौके पर पहुंचे एसओ (SO) राजीव कुमार ने दोनों को अस्पताल पहुंचा कर किसानों की सब्जी को बोरे में भरवाकर उनको गांव भेज दिया। वहीं एसओ राजीव कुमार के द्वारा किये जा रहे कार्य की चारों तरफ प्रसंशा हो रही है।

दरअसल पूरा मामला जिला अलीगढ़ के थाना मडराक के हाइवे पर स्थित मथुरा कट का है। जहां देर रात थाना मडराक के एसओ (SO)  राजीव कुमार के द्वारा वो काम कर दिखाया जो अक्सर फिल्मों में किसी हीरो के द्वारा किया जाता है। देर रात सब्जी बेचने जा रहे किसान और ड्राइवर की गाड़ी पलटने से दोनों युवक गाड़ी के नीचे दब गए। मौके पर फरिस्ते के रूप में पहुंचे एसओ राजीव कुमार ने दोनों व्यक्तियों की जान बचाई।

ये भी पढ़ें-मथुरा : समाजवादी पार्टी ने जारी की जिला पंचायत के सदस्यों की दूसरी सूची…

 

दरअसल ड्राइवर कौशलेंद्र पुत्र भवन प्रताप निवासी ग्राम खडूपुरा थाना ककोड़ जनपद बुलंदशहर अपने साथी योगेश पुत्र हरी सिंह ग्राम भटवारा थाना कोतवाली देहात बुलंदशहर के साथ अपनी मैक्स से खुर्जा से सब्जी गाजर के बोरे भरकर आगरा मंडी बेचने जा रहा था कि हाईवे पर मथुरा कट के पास डिवाइडर से टकराने से गाड़ी पलट गई।

जिसमें ड्राइवर व उसके साथ चल रहा व्यक्ति दब गया। दोनों ही चीख पुकार करते हुए अपनी जान बचाने की आवाजें लगा रहे थे वहीं गस्त कर रहे एसओ राजीव कुमार के द्वारा चीख पुकार की आवाज सुनकर अपनी गाड़ी को रोक कर देखा तो दो व्यक्ति गाड़ी के नीचे दबे हुए थे।

एसओ (SO)  राजीव कुमार के द्वारा तुरंत मौके पर पहुंचकर पुलिस द्वारा दोनों को बाहर निकाला गया तथा गाड़ी को पुलिस की मदद से सीधा किया तथा फैले हुए गाजर के बोरा को उठाकर डिवाइडर पर रखा। ड्राइवर व उसके साथ चल रहे व्यक्ति को तुरंत चिकित्सा उपलब्ध कराई।

जिसकी ड्राइवर व उसके साथ चल रहे किसान की जान बच गई। वहीं जैसे ही स्थानीय लोगों को इसकी खबर हुई तो लोगों के द्वारा थाना मडरॉक के एसओ राजीव कुमार की जमकर तारीफ की गई।

ख़ालिक़ अंसारी

Related Articles

Back to top button