बांदा: बुंदेलखंड अलग राज्य बनाने को लेकर खून से लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश के बांदा में आज कुछ लोगों के द्वारा खून से पत्र लिखकर देश के प्रधानमंत्री व महामहीम राष्ट्रपति को भेजने का काम किया गया है। बताते चलें कि ये जो पत्र खून से लिखा गया है। इसका उद्देश्य केवल इतना है कि बुंदेलखंड को जल्द से जल्द पृथक राज्य बनाया जाय। ताकि बुंदेलखंड का विकास हो सके और यहाँ के लोगों को रोजगार मुहैया हो सके।

आपको बता दें पूरा मामला बांदा जनपद का है । जहां शहर के सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में दो दिवसीय बैठक का आयोजन किया गया है। इस दो दिवसीय बैठक का मुख्य उद्देश्य यह था कि बुंदेलखंड को अलग और पृथक राज्य बनाये जाने की मांग को लेकर की गई है।

बताते चलें कि बुंदेलखंड को पृथक राज्य बनाने को लेकर यहां के तमाम छोटे-बड़े राजनैतिक व सामाजिक संगठनों के द्वारा लगातार धरने प्रदर्शन ज्ञापन आदि तमाम हथकंडे अपनाए गए बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाने को लेकर यहां के महोबा जनपद में सालों धरना प्रदर्शन व अनशन तक किए गए लेकिन उसके बाद भी आज तक सफलता हाथ नहीं लगी।

इतना ही नहीं बसपा शासनकाल में कैबिनेट मंत्री नसीमुद्दीन के द्वारा बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाए जाने को लेकर विधेयक भी पारित किया गया था जोकि तब से लेकर आज तक केंद्र में विचाराधीन है आज की बात करें तो आज भी तमाम संगठनों के द्वारा एकजुट होकर अपने खून से पत्र लिखकर देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को भेजा है और यह अपील की है कि जल्द से जल्द बुंदेलखंड को एक अलग राज्य बना दिया जाए।

ताकि आने वाले समय में बुंदेलखंड के लोगों को बेरोजगारी और भुखमरी की वजह से जहां से पलायन ना करना पड़े क्योंकि बुंदेलखंड अलग राज्य बनते ही यहां पर विकास की बयार पहले लगेगी और लोगों को रोजगार मुहैया होने लगेगा।

Report-इल्यास खान

Related Articles

Back to top button