गुजरात नगर निगम चुनाव: आम आदमी पार्टी ने बीजेपी के किले में पहली कील ठोंक दी !

अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (AAP) का कद धीरे-धीरे बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. दिल्ली से लेकर पंजाब और अब नरेंद्र मोदी और बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह के घर में घुसकर अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने चुनौती दे दी है. गुजरात पर एक छत्र राज करने वाली बीजेपी के लिए ये खतरे की घंटी हो सकती है. सूरत नगर निगम चुनाव में जहां कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया तो वहीं आम आदमी पार्टी (AAP) ने 27 सीटें जीतकर बीजेपी नेतृत्व को हिलाकर रख दिया है.

इस जीत से गदगद अरविंद केजरीवाल 26 फरवरी को सूरत में एक रोड शो करने वाले हैं. इस शो के जरिए केजरीवाल वहां की जनता को धन्यवाद करेंगे. जीत पर अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि, नई राजनीति की शुरुआत करने के लिए गुजरात के लोगों को दिल से बधाई.

ये भी पढ़ें-उन्नाव: जनपदीय अभिलेखागारों को व्यवस्थित रखने के उद्देश्य से जिलाधिकारी ने किया आकस्मिक निरीक्षण…

आम आदमी पार्टी (AAP) की ये जीत भले ही छोटी दिखाई दे रही हो, लेकिन आने वाले समय में इसके सियासी मायने बहुत बड़े हो सकते हैं. दिल्ली में तीन बार बीजेपी और कांग्रेस को करारी शिकस्त देने वाली आम आदमी पार्टी ने अपना विस्तार करते हुए पंजाब में कांग्रेस को हिलाकर रख दिया था. जिसकी उम्मीद ना तो बीजेपी को थी और ना ही कांग्रेस को. लेकिन अरविंद केजरीवाल की साफ-सुथरी छवि और दिल्ली में सरकार की नीातियों की गूंज ने पंजाब में इतिहास रच दिया था.

गुजरात में जहां कांग्रेस का अस्तित्व खत्म होने की कगार पर है तो वहीं बीजेपी के लिए आम आदमी पार्टी बड़ी चुनौती बन सकती है. बीजेपी की 483 सीटों पर आने वाले समय में आम आदमी पार्टी (AAP) की ये 27 सीटें भारी पड़ सकती हैं. क्योंकि कोई नहीं जानता था कि, अन्ना हजारे के आंदोलन से निकला एक सिपाही दिल्ली सल्तनत का सरदार बन जाएगा. और लगातार तीन बार राजनीति के सिकंदरों को पटखनी दे देगा.

Related Articles

Back to top button