कोरोना के चलते स्कूल-कॉलेज पर फिर लगा ताला, प्रशासन ने लोगों के निकलने पर भी…

देश में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों में काफी गिरावट आने से लोग राहत की सांस लेने लगे थे. लेकिन अचानक से महाराष्ट्र और केरल में संक्रमण के बढ़ने से फिर से हालात गंभीर होते जा रहे हैं. महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने हाल ही में सभी धार्मिक स्थलों को खोलने का ऐलान किया था. इसके साथ ही कोचिंग, स्कूल और कॉलेज में पढ़ाई फिर से शुरू हो चुकी थी. लेकिन कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों ने इन सभी पर फिर से रोक लगा दी है. महाराष्ट्र की महाअघाड़ी सरकार ने फिर से बढ़ रहे संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्कूल, कॉलेज और निजी कोचिंग संस्थानों को बंद करने के निर्देश जारी किए हैं.

पुणे शहर में बढ़ते कोरोना (Corona) के मामले को देखते हुए प्रशासन ने कॉलेज, स्कूल के अलावा रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है. पुणे मेयर के आदेश के बाद अब जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलने की इजाजत होगी.

पुणे के अलावा महाराष्ट्र के औरंगाबाद में भी कक्षा पांच से लेकर 9 तक के लिए कोचिंग क्लासेज को बंद करा दिया है. ये बंदी 15 मार्च तक लागू रहेगी. वहीं बोर्ड की परीक्षा होने के चलते 10वीं और 12 के छात्रों को राहत दी गई है.

ये भी पढ़ें- शर्मनाक :- जब पति ने पैसे लेकर दोस्तों से पत्नी के बनवाए जरबन शारीरिक संबंध और फिर..

बता दें कि, बीते शुक्रवार को औरंगाबाद में 247 नए मामले सामने आए थे. जिला प्रशासन ने किसी भी तरह की भीड़ इकट्ठा होने पर पावंदी लगाई है. इसके साथ ही नाइट कर्फ्यू भी लगा दिया है. इस दौरान कहा गया है कि, जब जरूरी काम हो तभी लोग अपने घरों से बाहर निकलें.

गौरतलब है कि, एक साल से ज्यादा का समय गुजर चुका है. लेकिन अभी भी कोरोना (Corona) खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. हालांकि राहत भरी खबर ये है कि, देश में कोरोना टीकाकरण तेजी से चल रहा है. ऐसे में ज्यादा चिंता करने की बात नहीं है.

Related Articles

Back to top button