Farmers Protest: लुटेरे खेती ही नहीं, देश लूटने को तैयार… इनके खिलाफ संघर्ष लंबा होगा – BKU नेता राकेश टिकैत

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर किसान (Farmers) पिछले तीन महीने से दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं. भाकियू नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) किसान आंदोलन के प्रमुख चेहरा बन चुके हैं. भाकियू नेता टिकैत लगातार देश के अलग-अलग राज्यों में नए कृषि कानूनों के विरोध में बुलाई गई महापंचायत में सम्मिलित हो रहे हैं.

वहीं, भाकियू नेता राकेश टिकैत ने रविवार को ट्वीट कर सरकार को चेतावनी दे दी है। उन्होंने कृषि कानूनों को लेकर कहा कि हुक्मरानों खबरदार, यह भीड़ बदलाव लाएगी। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘सरकार अगर मानती तो आने वाले समय मे हल क्रांति होगी, जिसमें 40 लाख से ज्यादा वहां शामिल होंगे. हुक्मरानों खबरदार यह भीड़ बदलाव लाएगी।’

ये भी पढ़ें- अरविंद केजरीवाल ने लालकिले की हिंसा को लेकर बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप

कुछ ही देर बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, “लुटेरे खेती ही नही देश लूटने को तैयार, इनके खिलाफ संघर्ष लंबा होगा। जय जवान जय किसान”

इसके साथ-साथ किसान नेता राकेश टिकैत ने 28 फरवरी से 22 मार्च तक का अपना प्रोग्राम तैयार कर लिया है, जिसमें कि उनकी रैलियां और कार्यक्रम कब और कहां-कहां हैं, इसकी पूरी जानकारी दी गई है.

सहारनपुर में भाकियू नेता की महापंचायत

आज रविवार को किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में होने वाली महापंचायत में सम्मिलित होंगें. किसानों (Farmers) की यह महापंचायत सहारनपुर के लखनौर में होगी. इसके बाद टिकैत की अगली पंचायत 1 मार्च को उधमसिंह नगर के रुद्रपुर की महापंचायत में हिस्सा लेंगे. 2 मार्च को राजस्थान के झुंझनू में, 3 मार्च को राजस्थान के ही नागौर की महापंचायत में शामिल होंगे.

 

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) इसके बाद 5 मार्च को यूपी के इटावा के सैफई में होने वाले कार्यक्रम में शिरकत करेगें. 6 मार्च को टिकैत दक्षिण भारत के तेलंगाना में किसानों (Farmers) की महापंचायत आयोजित में शामिल होंगे. 7 मार्च को वह फिर से आंदोलन स्थल गाजीपुर बॉर्डर के एक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे. इसके बाद टिकैत 8 मार्च को एमपी के श्योपुर जाएंगे, 10 मार्च को उत्तर प्रदेश के बलिया में किसान महापंचायत में सम्मिलित होंगे.

भाकियू नेता 12 मार्च को राजस्थान के जोधपुर में और 14 मार्च को मध्य प्रदेश के रीवा में आयोजित किसान महापंचायत में शामिल होंगे. 15 मार्च को वह मध्य प्रदेश के ही जबलपुर में आयोजित कार्यक्रम में भी हिस्सा लेगें.

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) इसके बाद फिर दक्षिण भारत के कर्नाटक में 20,21,22 मार्च तक रहेंगे.वहां वह किसानों (Farmers) के अलग-अलग कार्यक्रमों में शामिल होंगे.

बता दें कि किसान नेता और किसान आंदोलन के समर्थन में राजनीतिक दल भी अपनी-अपनी महापंचायत कर रहे हैं. कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में महापंचायत में सम्मिलित हो चुकी हैं.आरएलडी नेता जयंत चौधरी भी किसानों के समर्थन में किसान महापंचायतों में लगातार शामिल हो रहे हैं. वहीं आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी आज मेरठ में होने वाली किसान महापंचायत में शामिल होंगे.

Related Articles

Back to top button