बीजेपी नेता की अनशन के दौरान हालत बिगड़ने पर जिला अस्पताल में कराया भर्ती

खबर उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद से है जहाँ बीजेपी नेता (BJP leader) राकेश गुप्ता ने  विधानसभा के सामने 26 जनवरी के दिन आत्मदाह करने की चेतावनी प्रशासन को दी थी। बीजेपी नेता ने बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता पर फर्जी बिल भेजने  और बार-बार जेल भेजने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को भेजा था लेकिन…

बीजेपी नेता (BJP leader)  ने बिजली बिल में सुधार करने के लिए कई ज्ञापन सौंपा लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई जिसके बाद कोई कार्यवाही ना होने के कारण उन्होंने 26 जनवरी को विधानसभा के सामने आत्मदाह करने का फैसला लिया और कई ज्ञापन सरकारी अधिकारियों सहित कई भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को भेजा था लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई।

बिज़ली विभाग अधिकारी आधीशासी अभियंता कोई सुनवाई नहीं…

जिसके चलते राकेश गुप्ता ने आत्मदाह का फैसला लिया था और इसका मुख्य कारण बीजेपी नेता (BJP leader)  ने अधिशासी अभियंता पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और बताया कि ऐसे अधिकारी सरकार की छवि को खराब करने में लगे हुए हैं और  आत्मदाह के फैसले का बाद भी ज़िम्मेदार बिज़ली विभाग अधिकारी आधीशासी अभियंता कोई सुनवाई नहीं कर रहे हैं।

इसी दौरान हालात बिगड़ने पर जिला अस्पताल मऊ में भर्ती कराया

भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने कोई कार्य वाही न होने की वजह से 7 दिवसीय भूख हड़ताल, अन्न जल त्याग कर करने का  निर्णय लिया था इसी दौरान हालात बिगड़ने पर जिला अस्पताल मऊ में भर्ती कराया गया।

ये भी पढ़ें-आज़मगढ़ की 12 वर्षीय दिव्यांग जिया के जज्बे को सलाम, बनाया ये नया विश्व कीर्तिमान

अस्पताल में भर्ती होने की सूचना भाजपा जिलाध्यक्ष प्रवीण गुप्ता को होने पर भाजपा जिलाध्यक्ष जिला अस्पताल पहुचे और पूर्व मंडल अध्यक्ष राकेश गुप्ता को समझाने बुझाने के बाद उन्होंने जूस पिलाकर राकेश गुप्ता का अनशन को तोड़वाया ।

साथ ही प्रदेश महामंत्री अनूप गुप्ता को फ़ोन से बात कराकर पूरे प्रकरण के बारे में अवगत कराया । प्रदेश महामंत्री अनूप गुप्ता ने अनशन पर बैठे राकेश गुप्ता को आस्वस्त किया कि उनके फर्जी बिल को ऊर्जा मंत्री से बात करके दुरुस्त किया जाएगा ।

 

Related Articles

Back to top button