वृन्दावन : रसिया बाबा नगर में विराजे गए श्री श्रीनाथ….

यमुना पुलिन पर चल रहे दिव्य कुम्भ अमृत महोत्सव में पधारकर अपने भक्तों को अपने दर्शन देकर कृतार्थ करने हेतु श्री श्रीनाथ जी कुम्भ क्षेत्रान्तर्गत निर्मित रसिया बाबा नगर में विराज गये।

उनके आगमन पर रसिया बाबा नगर में एक बृहद साधु सेवा व भण्डारा का आयोजन भी किया गया। तदोपरांन्त रसिया बाबा नगर में चल रहे भक्तिरस वर्धनी वार्ता सत्र के अन्तर्गत वाराह पीठाधीश्वर महंत श्री राम प्रवेश दास जी महाराज ने मुख्य प्रवचनकर्ता के रूप में अपनी वाणी से समस्त श्रोताओं के मन में दिव्य भक्ति रस को प्रवाहित कर दिया।

ये भी पढ़ें- किशोरी की हत्या मामला: छावनी में तब्दील हुआ अलीगढ़ का पोस्टमार्टम हाउस, भारी पुलिस बल तैनात

उन्होंने गौ सेवा को प्रत्येक सनातन धर्मावलम्बबी ही नहीं, अपितु मनुष्य मात्र के लिए ही अत्यन्त आवश्यक एवं फलदायक बताया। उन्होंने कहा कि इससे तो सभी परिचित हैं कि गाय का दूध एवं उससे बनने वाले पदार्थ कैंसर एवं अन्य लाइलाज बीमारी का इलाज करने में तो सक्षम हैं ही, साथ ही गौमूत्र एवं गोबर भी सभी जीवधारियों के लिए अत्यन्त लाभकारी है। उन्होंने सभी वैष्णवजनों से अपने परिवार के साथ-साथ एक गौवंश का लालन-पालन एवं पोषण करने पर भी जोर दिया। आयोजन के विषय में अधिक जानकारी देते हुए श्रीमद् भागवत कथा प्रवक्ता रसिया बाबा ने बताया कि रसिया बाबा नगर में मास पर्यंत विभिन्न धार्मिक, आध्यात्मिक एवं सामाजिक आयोजनों का अनवरत क्रम जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि यहां रसिया बाबा नगर में ठाकुर श्रीनाथ जी मास पर्यंत विराजेंगे और कुम्भ महोत्सव के अन्तर्गत आयोजित फागोत्सव का आनन्द भी सभी को प्रदान करेंगे। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर ठाकुर श्री श्रीनाथ जी के श्री विग्रह की अष्टयाम दर्शन सेवा का लाभ भी समस्त कुम्भवासी ले पायेंगे। इस अवसर पर संस्था के सचिव शशिकान्त भण्डारी के अतिरिक्त समाजसेवी प्रदीप चैधरी, अजय अग्रवाल स्वीटी सुपारी वाले, नीरज अग्रवाल हाथी वाले, प्रवक्ता देव द्विवेदी के अतिरिक्त अनेकों संत, महंत, विद्वतजन एवं समाजसेवा के क्षेत्र से जुड़े अनेकों व्यक्तियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Report- yogesh

Related Articles

Back to top button