नरसिंहानंद सरस्वती का विवादित बयान हिंदू को करना पड़ेगा धर्म परिवर्तन

राजधानी दिल्ली के बुराड़ी में रविवार को आयोजित हुई ‘हिंदू महापंचायत’ में भड़काऊ बयानबाज़ी करने के मामले में डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद समेत अन्य वक्ताओं के ख़िलाफ़ दिल्ली पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज की है। यति नरसिंहानंद सरस्वती ने हिंदुओं से अपना अस्तित्व बचाने के लिए हथियार उठाने का आह्वान किया। इतना ही नहीं, मुसलमानों के खिलाफ विवादित और अभद्र टिप्पणी करने के लिए प्रसिद्ध नरसिंहानंद ने अपनी टिप्पणी से यह कहकर एक और विवाद खड़ा कर दिया कि अगर कोई मुस्लिम भारत का प्रधानमंत्री बना तो 20 साल में 50 प्रतिशत हिंदू धर्म परिवर्तन कर लेंगे। वही नरसिंहानंद ने कहा कि मैंने लंबे समय से हिंदुओं को अपनी मांगों को पूरा करने के लिए भीख मांगते देखा है, लेकिन मैंने किसी हिंदू की एक भी मांग पूरी होते नहीं देखी। राम जन्मभूमि हमें भीख मांगने से नहीं कोर्ट के दखल से मिली है, इसलिए भिखारी बनना बंद करो।दिल्ली पुलिस का कहना है कि उसने आयोजकों को इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी थी लेकिन ‘महापंचायत सभा’ हुई और 700-800 लोग कार्यक्रम स्थल पर मौजूद थे।

पुलिस का कहना है कि इस कार्यक्रम के संबंध में तीन एफ़आईआर दर्ज की गई हैं और सोशल मीडिया समेत विभिन्न मंचों से अफ़वाहें फैलाने के लिए क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही पुलिस ने यह भी जानकारी दी है कि इस मामले में जांच की जा रही है और अभी तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं की गई है। एक बयान में दिल्ली पुलिस ने कहा है कि ‘सेव इंडिया फ़ाउंडेशन’ के अध्यक्ष प्रीत सिंह से उन्हें कार्यक्रम की अनुमति के लिए एक निवेदन मिला था।

Related Articles

Back to top button