मथुरा : रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृन्दावन में ‘माँ सारदा कैंटीन’ का उद्घाटन

मथुरा : रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृन्दावन में नव निर्मित ‘माँ सारदा कैंटीन’ का उद्घाटन श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, माननीय गन्ना विकास और चीनी उद्योग मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा १५ अप्रैल २०२२ को शाम ५ बजे किया गया |
लगभग शाम ५ बजे श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी जी रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृन्दावन पहुंचे | वहाँ ‘माँ सारदा कैंटीन’ का फीता काटकर तथा पूजन-आरती के द्वारा नवनिर्मित ‘माँ सारदा कैंटीन’ का उद्घाटन किया| उक्त समय पर रामकृष्ण मिशन के साधु और ब्रह्मचारियों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के माध्यम से आध्यात्मिक वातावरण बना दिया | तत्पश्चात माननीय मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी जी ने अस्पताल का निरीक्षण किया |

रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृन्दावन के सचिव स्वामी सुप्रकाशानंद जी महाराज ने प्रेस को अवगत कराया कि माँ सारदा कैंटीन के द्वारा एक लंबे समय से चली आ रही आवश्यकता को पूरा किया गया है, जिसमें रोगियों के परिचारक, आगंतुक अपनी पसंद का भोजन सस्ती दरों पर खरीद सकेंगे। कैंटीन में रोगियों के लिए कोई विशेष आहार भी उपलब्ध कराया जा सकेगा।रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृन्दावन अस्पताल के प्रभारी स्वामी कालीकृष्णानन्द जी महाराज ने अस्पताल सम्बंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि आज रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृंदावन आधुनिक सुविधाओं से लैस 300 बिस्तरों वाला मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल चला रहा है।

इसे भी पढ़े-फिरोजाबाद में ट्रक और मैक्स में जोरदार भिड़ंत, 2 मौत, 6 घायल

रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृंदावन पिछले ११४ वर्षों से पवित्र ब्रज धाम और मथुरा के आसपास के जिलों के अभावग्रस्त रोगियों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान कर रहा है। अस्पताल अपने सभी रोगियों को उनकी जाति, पंथ या समाज के किसी भी वर्ग के लोगों से भेदभाव किये बिना, निःशुल्क या कम मूल्यों पर गुणवत्तापूर्ण देखभाल प्रदान करता आ रहा है। यह 300 बिस्तरों वाला यह बहु-विशिष्ट सुविधाओं से सुसज्जित धर्मार्थ अस्पताल कैंसर चिकित्सा, शल्य चिकित्सा, ह्रदय चिकित्सा, मूत्र रोग चिकित्सा, गुर्दा रोग चिकित्सा, स्नायु रोग चिकित्सा जैसी विशेष सुविधाओं के अलावा अन्य सभी साधारण सेवाएं प्रदान करता है। हमारे अस्पताल में हृदय चिकित्सा की व्यवस्था तो है पर वर्तमान आवश्यकताओं को देखते हुए एक कैथ लैब के निर्माण का कार्य भी प्रगति पर है |

अस्पताल आने वालों के भोजन की व्यवस्था के सम्बन्ध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि हमारे अस्पताल के सभी रोगियों को शाम को चाय व दूध के अलावा नियमित आहार दिन में तीन बार नि:शुल्क परोसा जाता है | पर इसके अलावा अन्य आगंतुकों हेतु उचित मूल्य पर भोजन की व्यवस्था के लिए माँ सारदा कैंटीन की व्यवस्था की गई है | कैंटीन में सभी प्रकार के लोगों के लिए व्यवस्था होगी | कैंटीन के हॉल में ६० लोगों की तथा अंदर एक ए सी कमरे में ८ लोगों के बैठकर भोजन कर सकने की व्यवस्था है | उक्त कार्यक्रम में डॉ. थान सिंह तोमर, डॉ. सी के गुप्ता, डॉ. प्रशांत पाठक, डॉ. अमित कुमार गुप्ता, डॉ. प्रशांत शर्मा, डॉ. मिनाक्षी, डॉ. सी. पी. चतुर्वेदी सहित अस्पताल के नर्स तथा अन्य कर्मचारी भी उपस्थित थे|

रिपोर्ट- योगेश भारद्वाज मथुरा

Related Articles

Back to top button